Technical SEO Kya Hai और Technical SEO कैसे करे 2021

0
43
Technical SEO Kya Hai 2021
Technical SEO Kya Hai 2021

Technical SEO Kya Hai और Technical SEO कैसे करे 2021 : दोस्तों यदि आप जानते हैं की Technical SEO Kya Hai 2021 तो हो सकता है आपने Technical SEO के बारे में भी कुछ सुना होगा. Technical SEO का नाम सुनकर हम में से ज़्यादातर लोग यही सोचते है की शायद ये बहुत ज़्यादा Hard होगा और इसे करने के लिए बहुत Technical होना पड़ेगा या किसी को Order करना पड़ेगा. 

Reality में Technical SEO इतना भी Hard नहीं जितना हम सोचते है और इसे ज़्यादा Easy बनाने के लिए मैने आपके लिए मेने इस Article को लिखा है. जिसके बाद आपको अपने Technical SEO के बारे में दोबारा परेशान नहीं होना पड़ेगा. तो दोस्तों जानते है Technical SEO Kya Hai और कैसे करे 2021.

SEO Kya Hai?

दोस्तों SEO का Full Form होता है :- Search Engine Optimization. इस शब्द का इस्तेमाल सन 1997 में उद्योग विश्लेषक आया और SEO शब्द को Popular बनाने वाले में से एक Bruice Clay को श्रेय दिया था. दोस्तों इस Digital दुनिया के जमाने में अक्सर सभी लोग अपनी समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिए Google Search करते हैं, Search करने बाद लगभग 80% लोग 1st Page पर आने वाली Posts पर ही Visit करके अपना Answers ढूंढते है.

Technical SEO Kya Hai 2021
Technical SEO Kya Hai 2021

Google में एक ही Topic या Title पर बने हज़ारो, लाखो Post पाई जाती हैं लेकिन Google का Algorithm ही ऐसा है कि उन लाखों Post में जो Top 3 Page में Post सीखता है वह Post ज्यादा अच्छे से Rank करती है. दरअसल SEO को लेकर Google का Algorithm ही ऐसा है, एक Research के अनुसार 80% लोग Google के 1st Page पर आए Post को पढ़ना पसंद करते हैं वही 2nd या 3rd Pages पर जाना लोग ज्यादा पसंद नही करते, एक विश्लेषण के अनुसार 93% लोग Google के 3rd Page से ज्यादा आगे जाना पसंद नही करते.

दोस्तों अब आप खुद ये अंदाजा लगा सकते है कि यद आपको Blog Competition में बने रहना है तो Google के Top 3 Pages के अंदर ही रहना पड़ेगा और इसीलिए Blog का SEO करना पड़ता है. Google के 1st Page पर जो Post होती है वह SEO Friendly होती है, एक Professional Blogger Post को लिखते वक्त SEO का पूरा ध्यान देते हैं इसलिये वह अन्य Blogger से हमेशा आगे रहते है और उनकी Post हमेशा Rank कर जाती हैं.

Simple शब्दो में बताऊं तो जो Blogger अपने Blog या Post को SEO Friendly लिखते हैं, Website को Google हिसाब से Optimized रखते है उनकी Website हमेशा Rank करती हैं.

Technical SEO Kya Hai?

दोस्तों On Page SEO और Off Page SEO के बाद जो काफी Hard और ज़रूरी माना जाता है वो है आपकी Blog का Technical SEO जिससे आपकी Blog या Website पर बड़ा Effect पड़ता है. Technical SEO का Easy सा मतलब है कि आपकी Blog और Server में कुछ ऐसे बदलाव करना यानी उन्हें Optimization करना जिससे search engine उसे Easel से समझ पाए. 

जितना ज्यादा Search Engine आपकी Blog को समझ पाएंगे उतना ही आपकी Search Ranking Improve होने के चान्सेस हो जाएंगे. 

Technical SEO जरूरी क्यों है?

दोस्तों हर एक Blogger को उसकी Blog या Website का Technical SEO करना ही चाहिए क्योंकि खराब Technical SEO आपकी Blog या Website की Ranking भी खराब कर सकता है. और Google की नज़र से देखें तो वो अपने उसेर्स को अच्छा Result Provide करना चाहता है! वो चाहता है की हर Users को उसके सवाल का जवाब सही मिले और Fast मिले. 

ऐसे में सबसे बेहतरीन Blog को Ranking करना Google की Important और मजबूरी दोनों बन जाती है. ऐसी Blog जो जल्दी Loading होती हो, जो Mobile Friendly हो, जो बिलकुल सही और भरोसेमंद Article के साथ हो उन्हें Ranking करना Google की ज़रूरत है. इसलिए अगर आप अपनी Blog का Technical SEO ठीक ना करके Google की Help करने की बजाय उसे और Confuse करेंगे तो Google आपको Ranking नहीं करने वाला. 

Technical SEO कैसे करे?

दोस्तों हर Blog या Website के हिसाब से Technical SEO की जरुरत थोड़ी बदल जाती है पर मैने आपके लिए इस Article लिखा है जो Blog से लेकर सवी Websites तक सब में Important है. और आप इन्हे follow करके अपनी Blog या Websites के Technical SEO के बारे में निश्चिंत हो सकते है. 

पर, शुरू करने से पहले Important है की आप अपनी Blog को Google Search Console से configure करलें ये बिलकुल मुफ़्त है और Technical SEO के लिए बहुत ज़रूरी भी. तो जानते जान लेते है:-

1. Blog या Website की Structure

दोस्तों एक Blog या Website अपने ऑनलइन Content को जैसे Images, Videos, Products, Blogs को किस तरह से पेजे और posts बनाकर अपने Web Users को Represent करती है इसे कहते है Blog के Content को structure करना यानी Blog या Website Structure बनाना और ECommerce Websites हमेशा Hierarchical Structure को Use करती है जिसमे 3 Levels से ज़्यादा नहीं होते. 

Hierarchical Structure

दोस्तों आसान Word में कहें तो जब एक Users HOMEPAGE पर land होता है तो वहां से लेकर product पेजेज तक पहुंचने तक उसे 3 से ज़्यादा क्लिक्स नहीं करने पड़ते इस तरह के Blog या Website Structure को Hierarchical structure कहते है. यानी आप अपनी Blog के पेजेज,Categories और posts को कैसे अलग करें की Users उसे Easily समझ पाए इसे ही कहते Blog Structure बनाना. अब Blog का structure अच्छा होने से Technical SEO में ये Benefits होते है:- 

Technical SEO Kya Hai 2021
Technical SEO Kya Hai 2021
  • आपके उसेर्स ही है जिनके ज़रिए आप अपनी Blog के Content को monetize करते है! इसलिए ये Important होता है की आपके उसेर्स आपकी Blog के structure को समझ पाएँ और जो Content वो देखना चाहते है उसे आसानी से ढूंढ पाएँ. इसलिए Blog या Website का सही Structure आपकी इसमें Help करता है. 
  • और एक बेहतर Blog या Website Structure होने की वजह से search engine crawlers आपकी Blog के Pages को बेहतर crawl कर पाते है. अच्छी crawling अच्छी Rank का बसें होता है. 
  • यदि आप अपनी Blog के Structure को अच्छा और आसान बनाते है तो इसका Benefits आपको खुद को भी होता है. जब भी आपको कोईContent page edit करना होगा तो आप उसे Easily ढूंढ कर edit कर पाएंगे. 

2. Sitemaps

दोस्तों एक sitemap फ़ाइल आपके web pages, videos, Images और दूसरी files की list होती है जो Google crawlers को उनका आपस में रिलेशनशिप बताती है. जैसे की एक आपके किसी Web पेज को आखिरी बार कब update किया गया, आपने कोई New page अपनी website में add किया, उस web page की language क्या है आदि. 

साथ ही sitemap में एक image की entry crawlers को बताती है की वो इमेज किस बारे में है, उसका license कौन सा है, उसका टाइप क्या है आदि. यदि आप Sitemap बनाकर अपनी website में add नहीं करते तब भी Google आपका ज़्यादातर content crawl कर सकता है और समझ सकता है पर sitemap add करने से crawling की क्वालिटी बढ़ जाती है. 

Sitemap कैसे check करें और बनाएं?

दोस्तों यदि आप एक WordPress User है तो आपको Tension करने की ज़रूरत नहीं क्योंकि WordPress automatically sitemap Generate कर देता है. यदि आपकी Blpg HTML पर है तो आपको manually sitemap generate करके अपनी website की root directory में अपलोड करना पड़ेगा और इसके लिए आप Youtube पर tutorials भी देख सकते है. 

अपनी Blog का sitemap check करने के लिए आप सीधा अपनी Blog की root directory में जाएँ और देखें की वहां sitemal.xml के नाम से कोई file है या नहीं अगर नहीं है तो फिर आपको साइटमैप डालना चाहिए. दोस्तों यदि आप wordpress यूजर हैं और अपना sitemap ढूंढना चाहते है तो इस Yoast का official ब्लॉग पढ़ें. यदि आपकी Website HTML पर है तो Sitemap बनाने के लिए आप xml.sitemaps पर जा सकते है. 

3. Loading Speed

दोस्तों Blog या Website Loading Speed Google की नज़र में एक Ranking factor है. यदि आपकी Blog की loading speed काम है और users आपके Articles के साथ जल्दी interact नही कर पाते तो आपको Ranking करने में ज़्यादा नहीं पर थोड़ी दिक्कत आ सकती है. 

आप Blog या Website की Loading Speed करने के लिए आप Google के page speed insights tool को इस्तेमाल कर सकते है. दोस्तों आपको सिर्फ अपनी Blog या Website का URL डालकर Analyze के बटन पर click करना है. अब ये tool आपको बता देगा कि आपकी Blog या Website को कहाँ कहाँ Enhancements करने की ज़रूरत है जिससे की उसकी speed बेहतर हो सके. 

और आपकी Blog या Website की Speed Mobile Devices पर तो बेहतर होनी ही चाहिए क्योंकि World के 60% से भी ज़्यादा Searches Mobile Devices पर ही होते है. अब अपनी Blog या Website की Loading Speed बढ़ाने के लिए आप अपने Developer से बात कर सकते है और अगर आपकी Blog या Website किसी CMS platforms पर जैसे WordPress पर है तो आप Youtube पर Tutorials देख कर खुद भी कुछ हद तक speed को इम्प्रूव कर सकते है. दोस्तों WordPress में 2 सबसे Big issues जिनकी वजह से Blog या Website की Speed slow रहती है वो है:

  • Web Hosting:- दोस्तों आप कोई भी cloud Hosting ले सकते है जिससे आपकी speed slow नहीं होगी, मेरे खेत्र में Siteground की Cloud service इस्तेमाल कर रहा हूँ. पर आप Bluehost भी इस्तेमाल कर सकते है.
  • Template:- दोस्तों यिद आप Blogger है तो मैं Recommended करूँगा की आप Generate Press Theme इस्तेमाल करें ये एक दम light Weight और SEO-friendly Templates है. 

4. 404 Errors

दोस्तों 404 not found error एक client-side error है जो की तब माना जाता है जब एक Link mistyped हो. आसान Word में जब हम कोई Link तक जाने के लिए request करते है पर वो server को नहीं मिलता तब हमे 404 not found error दिखता है. 

ये तब होता है जब कोई Blog मालिक जानबूझ कर या ग़लती से किसी पेज को अपनी Blog से delete कर देता है पर उसे redirect करना भूल जाता है या SERP से remove करना भूल जाता है. दोस्तों ऐसे पेजेज आपके SEO को Directly नुक्सान नहीं पहुँचाते पर indirectly पहुँचाते हैं और जब एक यूजर SERP में आपके किसी page पर click करके आपकी Blog पर land होता है और उसे वहां 404 error दिखाई देता है क्योंकि आपने वो page ग़लती से डिलीट तो कर दिया पर SERP से हटाना भूल गए. 

तो ऐसे में आपकी Blog पर Users का भरोसा घट जायेगा. इसलिए अपनी Blog के सारे 404 not found Pages को ठीक करना आपके लिए ज़रूरी है. 

404 Errors कैसे Check करें? 

दोस्तों अपने Search Console में जाकर आप अपने 404 error वाले पेजेज देख सकते है और उन्हें fix कर सकते है. 404 errors pages देखने के लिए आप Search Console खोले – Coverage option में जाएँ – Errors पर जाएँ. 

अब यहां आपको आपके 404 not found वाले pages की Lists मिल जाएगी. दोस्तों मेरे बारे में ये Section खाली है क्योंकि मेरी Blog पर कोई भी 404 error page नहीं है. 

5. SSL Certificate

दोस्तों कोई भी Search Engine अपने उसेर्स के Browser में malicious फाइल्स या Malware नहीं भेजना चाहता इसके लिए search engines उन्हीं Blogs या Websites को Ranking करना पसंद करते है जो SSL के साथ Secure हों. 

अब SSL का मतलब होता है secured socket layer और इसका इस्तेमाल होता है Web server और Client browser के बीच Encrypted Link स्थापित करना. आसान World में कहें तो SSL एक Encrypted Link बनाता है जिससे आपकी Blog की files आपके Users के Browser में secured तरीकेसे जाती है. इससे Users का Browser भी Secure रहता है और Search Engines का आपकी Blog या Website पर भरोसा भी बढ़ता है. 

साथ ही https वाली Blog या Website यानी SSL Integrated Websites को बेहतर Rank मिलने के chances बढ़ जाते है. 

6. Browser Compatibility

दोस्तों कोई भी Users एक Blog को अपने browser के ज़रिए देखता है. हर Browser आपकी Blog को एक Users के सामने थोड़ा अलग तरह से प्रस्तुत करता है. इसलिए दोस्तों आपने अपनी Blog को design करने के लिए जितनी भी मेहनत की Important नहीं की आपकी Blog हर Users को वैसे ही दिखे. 

Technical SEO Kya Hai 2021
Technical SEO Kya Hai 2021

ऐसे में Google का मानना है की आपको browsers पर भरोसा ना करते हुए अपनी Blog को बनाते समय अलग अलग browsers में Check करना चाहिए. साथ ही Blog बनाते Time Clean HTML codes लिखने चाहिए क्योंकि अगर आपने या आपके developer ने clean कोड्स नहीं लिखे और आपकी Blog किसी browser में ठीक भी दिखी रही है तो ज़रूरी नहीं वो हर ब्राउज़र में Fix दिखेगी. 

इसलिए दोस्तों अपनी Blog या Website को ज़्यादा से ज़्यादा browsers में Check करें और अगर आप एक डेवलपर नहीं हैं या Order नहीं कर सकते तो आपको WordPress पर जाना चाहिए. 

7. Canonical URLs

दोस्तों जब कोई Page एक से ज़्यादा urls से access हो पाए या एक से ज़्यादा पेजेज पर वही content हो तो Google उसे Duplicate कंटेंट मानता है. ऐसे में गूगल एक ही copy को original या canonical मानता है और crawl करता है. 

Duplicate content Problem सबसे ज़्यादा eCommerce Website में मिलता है क्योंकि वो एक ही प्रोडक्ट के अलग अलग versions बनाने के बाद same कंटेंट लिखते है और canonical page ठीक करना गलत जाते है 

8. Redirections

दोस्तों SEO में सबसे ज़्यादा इस्तेमाल होने वाली redirections है 301 Permanent Redirection और दूसरी 302 Temporary रेडिरेक्शन है. लईकिन Technical SEO को ध्यान में रखते हुए जिस पर आपको सबसे ज़्यादा ध्यान देना होता है वो है 301 Permanent रेडिरेक्शन क्योंकि ये आपकी website को Duplicate कंटेंट Issue से बचा सकती है. एक website के 4 versions हो सकते है जैसे इसी EDMFEED के ये 4 प्रकार थे:- 

  1. http://babablogging.com
  2. http://www.babablogging.com
  3. https://www.babablogging.com
  4. https://babablogging.com

दोस्तों इन चारों प्रकार को Google एक ही Blog के अलग अलग प्रकार समझता है और आपको duplicate Content Problems को face करना पड़ सकता है. इसलिए दोस्तों आपको Permanent 301 Redirection इस्तेमाल करके अपने सारे Blog या Website versions को सिर्फ एक Secure version (https) पर रेडिरेक्ट करना चाहिए. आप www version या non-www version पर रेडिरेक्ट कर सकते हो पर ज़रूरी ये है कि आप https वाले प्रकार पर ही redirect करो. 

Versions Google Database में कैसे check करें? 

दोस्तों आपको Google पर जाकर कुछ queries run करनी पड़ेगी जिससे की आप देख सकें कि आपकी Blog या Website के सारे versions एक version पर Redirected हैं या नहीं. तो कभी भी आपको चेक करना हो कि आपकी Blog या Website के कौन कौन से Pages Google के database में index हो गए है तो आप Easily ये query run करते हो. 

  • site:siteurl 

Example के लिए मैं अपनी website के लिए ये query ऐसे करूँगा.अब हम इस query को थोड़ा बदलेंगें और देखेंगे कि हमारी website के कौन से pages Google के database में indexed है जो नहीं होने चाहिए थे बल्कि एक version पर redirected होने चाहिए थे।

  • site:siteurl inurl:www 

दोस्तों उदहारण के लिए मैने ये query अपनी Blog EDMFEED के लिए run की ये देखने के लिए कि मेरी Blog के कितने pages Google में indexed है जिनके url में www लगा हुआ है. Google ने कोई पेज नहीं दिखाया यानी उसके डेटाबेस में www version वाला कोई भी page indexed नहीं है तो इसका मतलब है मैंने अपनी website के इन www वाले pages को कहीं और रेडिरेक्ट कर रखा है. 

  • site:siteurl -inurl:https  

दोस्तों उदहारण के लिए हम दोबारा EDMFEED पर ये query run करेंगे ये देखने के लिए कि इस website के ऐसे कितने pages गूगल में indexed है जिन पर https नहीं था. यहाँ (-) minus का मतलब है जिन पेजेज में वो चीज नहीं है यानी जिन pages पर https नहीं है. दोस्तों हमें Google ने यहाँ 3 Pages दिखाए जो indexed हैं पर ये बिना https के है. 

क्योंकि मुझे privacy पालिसी वाले Page को Ranking नहीं करवाना तो मै इसे webmaster में जाकर removal के लिए request कर सकता हूँ जिससे Google इसे अपने डेटाबेस से Remove कर देगा. बस मुझे उस पेज के Url को copy करना है. दोस्तों ऐसे queries run करके आप देख सकते हो की आपकी Blog के कौन से pages indexed है और कौन से पेजेज को आपको redirect करना है. 

और मेरे में मैंने सारे versions को non-www version पर रेडिरेक्ट किया हुआ है और आप भी अपनी Web Hosting के tutorials या wordpress के Tutorials देख कर Redirection कर सकते है. 

9. Broken Links

दोस्तों जब एक यूजर आपकी Blog या Website पर land होता है और उसके बाद वो किसी linked page को खोलने की Try करता है पर Server 404 error दिखाते है. तो उन्हें सवी broken links या dead links या link rots कहा जाता है. दोस्तों एक Blog या Website पर broken links होने के कई करन हो सकते है जिनमे से कुछ नीचे दिए गए है:- 

  • Blog Owner से गलत Link डल जाना. 
  • और Blog का Structure change होने से urls change हो जाना और उन्हें Redirect करना भूल जाना. 
  • यदि कोई Blog hyperlinked है तो उसका बंद हो जाना . 
  • और affiliate links Expire हो जाना . 

Broken Links कैसे Check करें? 

दोस्तों Broken Links ढूंढने के लिए आप Google Search Console इस्तेमाल कर सकते है जो आपको coverage section में बता देगा की आपकी Blog पर कोई broken link तो नहीं है. लईकिन Search Console सिर्फ internal broken links के बारे में बताता है External ब्रोकन links के बारे में नहीं. 

इसलिए आप tools उपयोग कर सकते है जिनसे आपका काम Easy हो जाएगा. ये कुछ Tools है जिनसे आप अपनी Blog या Website की audit कर सकते है और broken links check कर सकते है:- 

दोस्तों Free tools उपयोग करिए पर भरोसा सिर्फ Paid Tools पर ही करिए. 

Broken Links कैसे Fix करें? 

दोस्तों ऊपर दिए गए tools का उपयोग करके broken links की Lists देखने के बाद fix करने के बस 2 ही तरीके है: 

  1. सही links से Replace करना:-  दोस्तों आपको सभी links को जाकर manually रेप्लस करना पड़ेगा wokring Links से. 
  2. Links को Remove कर देना:- दोस्तों यदि आपको लगता है की उस links के बिना भी काम चल सकता है तो उसे रिमूव कर दीजिए. 

अगर आपको लगता है कि आपकी Blog या Website पर बहुत ज़्यादा Pages है जिसकी वजह से ब्रोकन links भी बहुत ज़्यादा है. दोस्तों आप Fiverr जैसी Freelance Websites पर जाकर किसी को ये काम करने के लिए Payment कर सकते है. 

10. Mobile Usability

दोस्तों जैसा की हम जानते है की पूरी World में 60% से भी ज़्यादा Searches Mobile Devices पर होते है ऐसे में Google अपने SERP में उन साइट्स को priority देता है जो Mobile Friendly हों. 

Technical SEO Kya Hai 2021
Technical SEO Kya Hai 2021

Mobile Responsive होती है यानी डिवाइस के हिसाब से अपना size और design adjust कर लेती है साथ ही वो Mobile पर Fast Load होती है. दोस्तों एक नॉन Mobile Friendly Blog या Website में ये Problems हो सकते हैं: 

  • दोस्तों आपने कभी देखा होगा की आप किसी Blog पर गए और उसका content आपकी mobile की screen से बाहर जा रहा होगा, ये भी एक मोबाइल usability Problem है. 
  • और कुछ Blog या Website का content के font का size इतना Small है की वो मोबइल पर read करना possible ही नहीं होता ये भी एक Mobile usability Problem है. 
  • दोस्तों कुछ Plugin भी इस्तेमाल करती है जो हर mobile browser में support नहीं करते इसलिए Google खुद Recommended करता है की आप अपनी site को latest टेक्नोलॉजी जैसे HTML5 पर build करें. 
  • कुछ Blogs में viewport property define नहीं होती जिससे की website दूसरे Browsers में अपनी dimensions ठीक नहीं कर पाती. 
  • दोस्तों दूसरे clickable एलिमेंट्स जब बहुत पास हो और एक user को सही element दबाने में Hard हो तो ये भी mobile usability Problem में आता है. 

Mobile Usability कैसे Check करें और Fix करें?

दोस्तों यदि आप एक WordPress user है तो आप कोई भी AMP प्लगइन डालकर अपने web pages को Mobile Friendly बना सकते है. पर यदि आपकी Blog HTML पर बनी है तो Mobile Friendly Blog बनाने के लिए आपको अपने Developer की ज़रूरत पड़ेगी ही पड़ेगी. 

अब बात आती है कि आपको अपनी Blog के Mobile Friendly Problems के बारे में कैसे पता लगेगा?तो दोस्तों Google Search Console आपको notification और Mail के ज़रिए आपके Problem के बारे में बता देता है. पर फिर भी यदि आपको अपनी Blog या Website की Mobile Friendly check करनी है तो आप Google के official tool “Mobile-Friendly Test Tool” पर जाकर चेक कर सकते है. 

11. Robot.txt File

दोस्तों एक Blog या Website की robot.txt file search engine crawlers को ये बताती है की आपकी Blog के कौन से page को crawl करना है कौन से नहीं. ये आपके किसी पेज को Google के index में सेव होने से नहीं रोकती. 

और जब आपकी Blog पर Crawlers आते है तो Overload कम करने के लिए यानी requests कम करने के लिए हम robot.txt फ़ाइल का Use करते है. यदि आपकी Blog या website HTML पर है तो आपको sitemap की तरह आपकी site की root directory में robot.txt file अपलोड करनी पड़ेगी और ये robot.txt के Name से ही upload होती है. 

Robot.txt कैसे Check करें और बनाएं?

दोस्तों यदि आपकी Blog HTML पर बनी है तो आप अपनी Blog की root directory folder में जाकर देख सकते है की robot.txt नाम से कोई फाइल्स है या नहीं. 

Conclusion

दोस्तों आज के इस Post पर मैंने आपको बताया है की (Technical SEO Kya Hai और Technical SEO कैसे करे 2021) तो अगर आपके मन में इससे जुड़े कोई भी (Technical SEO Kya Hai 2021) सवाल है तो आप निचे Comment में पुच सखते हो, में उसका जबाब देने की पूरी कोशिस करूँगा. और भी नए नए जानकारी जानने के लिए हमारे Blog को Visit कर सखते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here