Physics Kya Hai 2021

0
31
Physics Kya Hai
Physics Kya Hai

Physics Kya Hai 2021 : दोस्तों जिन लोगों को Math बहुत पसंद होता है उन्हें भौतिक शास्त्र पढ़ना भी बहुत पसंद होता है. अगर आपको नहीं मालूम कि भौतिक शास्त्र यानी कि Physics Kya Hai और इसका क्या महत्व है तो आपको इस Subject के बारे में जरूर जानना चाहिए. क्योंकि यह विज्ञान के अंतर्गत आने वाला एक बहुत ही प्रमुख विषय हैं. इस Post में हम यह भी जानेंगे की Physics Kya Hai और इसकी परिभाषा क्या है?

School में पढ़ने वाले बच्चों को Science में फिजिक्स, केमिस्ट्री और Biology तीनों एक साथ पढ़ाया जाता है. लेकिन दसवीं Class Pass करने के बाद में 11वीं से सभी विषयों को अलग अलग से पढ़ाया जाता है और इनकी परीक्षा भी अलग ही ली जाती है. मान लीजिए अगर किसी बच्चे ने 10+2 के लिए साइंस पढ़ने का निर्णय लिया है तो उसे फिजिक्स केमिस्ट्री पढ़ना अनिवार्य होता है. इन विषयों के अलावा Mathematics और बायोलॉजी में से कोई एक का चुनाव कर सकते हैं या फिर दोनों विषयों को पढ़ सकते हैं. किसी भी क्वांटिटी के Calculation के लिए गणित का होना जरूरी है लेकिन जो घटनाएं हमारी जिंदगी में आसपास होती रहती हैं उसे भौतिकी के अंतर्गत लिया जाता है.

और आपने अंतरिक्ष संस्थान नासा और इसरो के बारे में जरूर सुना होगा जो हर साल कुछ ना कुछ नया Mission करते हैं और पृथ्वी के बाहर अंतरिक्ष में रिसर्च करने के लिए स्पेसक्राफ्ट, सेटेलाइट इत्यादि भेजते हैं. इन सभी मिशन में Physics बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यदि इंसान को Physics का ज्ञान ना होता तो आज हम हवाई जहाज में उड़ नहीं पाते, ना तो बिजली बन सकती और ना ही Car चला पाते. आप बस इतना समझ लीजिए कि जिस तरह गणित हर जगह होता है उसी तरह जितनी भी काम होते हैं उन सभी में फिजिक्स छुपा हुआ होता है. ऐसी अनगिनत चीजें हैं जिसका पता हम इस के जरिए लगाते हैं और हम जानते भी नहीं कि आखिर ये क्यों होता है. भले ही हम बहुत सारी चीजों से अनजान होते हैं लेकिन वास्तविकता में वहां पर Physics काम कर रहा होता है. अब जान लेते हैं आखिर यह Physics Kya Hai?

Physics Kya Hai 

Physics Kya Hai
Physics Kya Hai

दोस्तों Physics विज्ञान की वह शाखा है जिसमें सामान्य तौर पर Universe में हो रहे प्राकृतिक घटनाओं का विश्लेषण किया जाता है और इन घटनाओं को समझा जाता है. भौतिक विज्ञान यानी

Physics पदार्थ और उर्जा का अध्ययन करने वाला विज्ञान है और यह बहुत ही पुराना और फैला हुआ स्टडी का क्षेत्र है. अधिकतर लोग Physics शब्द सुनते हैं और डर जाते हैं. लेकिन यह सिर्फ Rocket वैज्ञानिकों के लिए नहीं है. वास्तव में हर कोई  इस से घिरे हुए होते हैं. भले ही आप इसे महसूस ना करते हो आप हर दिन इस का उपयोग करते हैं.

जब आप भौतिकी के बारे में सोचते हैं तो एक बात समझ में आती है कि इसके कई साइंटिफिक Rule है जो कि बार-बार Test की गई है और कंफर्म किया गया है और इन Statement का डिस्क्राइब करने के लिए फिनोमेना बनाए गए हैं. Physical Phenomina Reality में भौतिकी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है. इसके विज्ञानी इन नियमों को बनाने और हमारे यूनिवर्स के काम करने के तरीके के बारे में बताते हुए कभी-कभी एक्सपेरिमेंट को दोहराते हैं.

इन कानूनों जैसे गुरुत्वाकर्षण और न्यूटन के गति के नियम इतना अच्छी तरह से Test किया जाता है की उन्हें सत्य के रूप में स्वीकार किया जाता है और उनका इस्तेमाल हमें यह भविष्यवाणी करने में Help करने के लिए किया जा सकता है कि अन्य चीजें कैसे बिहेव करेंगे.

Physics यूनिवर्स में प्राकृतिक घटनाओं की Expansion हमें बताता है इसीलिए इसे अक्सर सबसे Unique विज्ञान माना जाता है. यह दूसरे सभी विज्ञानों के लिए एक आधार बना कर देता है यानी के भौतिकी के बिना जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान या कुछ और नहीं कर सकते.

Physics का इतिहास 

Thales World के पहले भौतिक वैज्ञानिक थे और उनके सिद्धांतों ने वास्तव में Discipline को अपना नाम दिया. उनका मानना था कि World कई चीजों से मिलकर बनी हुई है. जबकि वास्तविकता में यह सिर्फ पानी का बना हुआ है जिसे प्राचीन ग्रीक में Physis भी कहा जाता था.

जब मटेरियल के Solid Liquid और गैस फेस के साथ में पानी इंटरेक्ट करता है तो इससे अलग अलग प्रॉपर्टी बनते हैं. यह Natural Accident को साइंस की घटना के रूप में व्याख्या करते हैं.

Anaximander अपने Portable Addiction Theory के लिए प्रसिद्ध है,थेल्स के विचारों को विवादित किया और उन्होंने यह बताया कि पानी के बजाय एपीरोन नामक पदार्थ Building Block से पूरा यूनिवर्स बना हुआ है. आजकल के साइंटिफिक रिसर्च से हम कह सकते हैं कि यह एक तरह से सेम ही आईडिया था जैसा कि आप हाइड्रोजन हमारे ब्रह्मांड में सभी पदार्थों के बनने में Building Block के रूप में है.

Heraclitus ने प्रस्तावित किया ब्रह्मांड को नियंत्रित करने वाला सिर्फ एक नियम है जो कि Principal of Change के नाम से हम जानते हैं. इसके अनुसार कोई भी चीज हमेशा एक जैसी नहीं होती है. इस ऑब्जरवेशन की वजह से वह उस समय के विज्ञान के महानतम विद्वानों में से बन गए जोकि Roll of time in Universe इस के इतिहास में यह सबसे महत्वपूर्ण कंसेप्ट था.

Archimedes  हम उनके Eureka Moment की वजह से जानते हैं जिन्होंने डेंसिटी और उछाल के प्रिंसिपल की खोज की और वह भी जब वह नहाने का आनंद उठा रहे थे. लेकिन इस के History में उनका योगदान बहुत गहरा था. उनकी प्राचीन भौतिकी उनके आविष्कार के गिफ्ट के साथ नजदीकी से जुड़ी हुई थी क्योंकि उन्होंने Mathematics Article Principal का उपयोग करने के लिए किया था जो आज भी सामान्य है.

Archimedes ने लीवर के अंडर लाइंग Mathematics का कैलकुलेशन किया और बड़े चीजों को कम फोर्स लगा के उसको एक जगह से दूसरे जगह हटाने के नियम का विकास किया. जब उन्होंने किसी नए उपकरण का आविष्कार नहीं किया तो उन्होंने उन पर सुधार किया और उन सिद्धांतों को निर्धारित किया जिन्होंने Sophisticated मशीनों के निर्माण की अनुमति दी. उन्होंने प्रिंसिपल ऑफ विलियम स्टेट और Center of Gravity Ideas के नियम विकसित किए जिससे इस्लामिक विद्वान, गैलीलियो और न्यूटन भी प्रभावित हुए.

आखिरी, और प्राचीन Physicist में से एक सबसे प्रसिद्ध, टॉलेमी था. यह इस के Scientists और खगोलशास्त्री रोमन साम्राज्य के समय के प्रमुख दिमागों में से एक था. उन्होंने कई ग्रंथ और किताबें लिखीं, जिनमें पहले के यूनानी दिमाग के काम शामिल थे, जिनमें हिप्पार्कस भी शामिल था, और उन्होंने कुछ Sophisticated Calculations की गणना करके आकाश की गति को भी निर्धारित किया.

प्राचीन विज्ञान में उनका काम और नाम पूरी दुनिया में फैला था जिसके माध्यम से Greeks का ज्ञान मध्ययुगीन काल के महान इस्लामी Scholars को दिया गया था.

निश्चित रूप से, प्राचीन यूनानियों के Contribution ने इस के History के कोर्स को Direction दिया, ब्रह्मांड को रेखांकित करने वाले Math को रिफाइन किया और धर्मशास्त्र और विज्ञान के डिफरेंस को शुरू किया. प्राचीन विज्ञानं के इस Subject के बारे में उनका ज्ञान यूरोप में जल्द ही भुला दिया जाएगा क्योंकि विज्ञान और खासकर  इस विषय के स्टडी इस्लामिक सदनों और चीन और भारत के Great Mind में फैल चुका है.

Physics की परिभाषा 

Physics Science की वह शाखा है जिसमें पदार्थ और उर्जा के प्रकृति और गुणों के बारे में अध्ययन किया जाता है. भौतिक विज्ञान में पदार्थ के रूप में मैकेनिक्स, गर्मी, लाइट, रेडिएशन, साउंड, बिजली, मैग्नेटिज्म और परमाणु की संरचना शामिल है.

विज्ञान का जनक – Father of Physics

दोस्तों क्या आप जानते हैं कि Science का जनक किसे कहा जाता है. नहीं मालूम चलिए मैं आपको बता देता हूं. आपने इस शख्स का नाम हमेशा सुना होगा Albert Einstein यह वही इंसान है जिन्होंने विज्ञान का  पर्दा उठाया और आज भी उनके नियमों को Follow किया जाता है.

भौतिक शास्त्र की शाखाएं – Branches of Physics 

जैसे-जैसे Science विकसित होता गया वैसे ही इसमें नए-नए ब्रांचेस भी विकसित हुए :-

Classical Physics

Science की वह शाखा जिसमें सर आइज़क न्यूटन और जेम्स क्लार्क मैक्सवेल के Law of Motion और Gravitation के बारे में बताया गया है . इस शाखा में मुख्य रूप से पदार्थ और ऊर्जा के नियमों के बारे में पढ़ने को मिलता है. अक्सर भौतिकी जो 1900 से पहले की तारीख में है उसे क्लासिकल Physics के रूप में जाना जाता है. और उसके बाद कि इसको आधुनिक फिजिक्स के नाम से जाना जाता है.

Classical Physics में एनर्जी और पदार्थ को अलग-अलग क्वांटिटी के रूप में जाना जाता है. एकॉस्टिक, ऑप्टिक्स, क्लासिकल मैकेनिक्स, और इलेक्ट्रोमैग्नेटिक ट्रेडिशनल के अंतर्गत ट्रेडिशनल ब्रांच है. इसके अलावा जो भी इसके सिद्धांत को Null माना जाता है वह खुद-ब-खुद क्लासिकल के अंतर्गत करार कर दिया जाता है. न्यूटन के नियम Classical भौतिकी के सबसे मुख्य Feature में से एक हैं.

Modern Physics

Modern Physics भौतिकी की वह शाखा है कि मुख्य रूप से थ्योरी ऑफ़ रिलेटिविटी और क्वांटम मैकेनिक्स से संबंधित है. अल्बर्ट आइंस्टीन और Max Plank मॉडर्न फिजिक्स के पायोनियर थे. क्योंकि यही लोग पहले साइंटिस्ट थे जिन्होंने Theory of Relativity और क्वांटम मेकैनिक्स रिस्पेक्टिवली दुनिया के सामने लेकर आए.

Modern Physics में ऊर्जा और पदार्थ को अलग-अलग एनटीटी नहीं माना जाता है. बल्कि इन्हें एक-दूसरे का अलग अलग रूप माना जाता है.

Nuclear Physics

Nuclear Physics विज्ञान की ऐसी शाखा है जो परमाणु नाभिक के घटको, संरचना, बिहेवियर और अंतर क्रियाओं से संबंधित है. फिजिक्स की इस शाखा को परमाणु  यानी के Atomic Physics के साथ कंफ्यूज नहीं करना है. जिसमें परमाणु को अपने Electrons सहित पूरा अध्ययन किया जाता है.

Microsoft Encarta Anglo Media के अनुसार, न्यूक्लियर विज्ञान इस प्रकार परिभाषित किया गया है.

” भौतिकी की वह शाखा जिसमें परमाणु नाभिक की स्ट्रक्चर, कोर्सेज और बिहेवियर का स्टडी किया जाता है.”

Modern Age में न्यूक्लियर फिजिक्स बहुत ही वाइड एरिया हो चुका है और इसमें काफी Scope भी बन चुके हैं और इसका इस्तेमाल भी कई क्षेत्रों में किया जा रहा है. इसका उपयोग पावर जेनरेशन, न्यूक्लियर वेपन, मेडिसिन, मैग्नेटिक रेजोनेंस, इमेजिंग, इंडस्ट्री, एग्रीकल्चरल आइसोटोप के लिए भी इस्तेमाल किया जा रहा है.

Mechanics

Mechanics Physics एक ऐसी शाखा है जो बलों के प्रभाव में  वस्तुओं की गति से संबंधित है. अक्सर सिर्फ इसे Mechanics के नाम से ही जाना जाता है इसके अंदर भी दो शाखाएं हैं.

  • क्लासिकल मैकेनिक्स
  • क्वांटम मैकेनिक

Classical Mechanics वस्तुओं की गति और गति का कारण बनने वाली ताकतों से संबंधित है जबकि Quantum Physics वह शाखा है जो सबसे छोटे कणों यानी इलेक्ट्रॉन प्रोटॉन और न्यूट्रॉन के व्यवहार से संबंधित है.

Acoustics

शब्द “Acoustics” ग्रीक शब्द Akouen से लिया गया है, जिसका अर्थ है “सुनने के लिए.”

इसलिए, हम Acoustics को इस की एक शाखा के रूप में परिभाषित कर सकते हैं जो अध्ययन करती है कि ध्वनि कैसे उत्पन्न होती है, संचारित होती है, प्राप्त होती है और नियंत्रित होती है. Acoustic भी विभिन्न माध्यमों में ध्वनियों के प्रभाव से संबंधित है.

Atomic Physics

Atomic एक ऐसी शाखा है जो परमाणु की संरचना से संबंधित है. यह मुख्य रूप से नाभिक के आसपास के गोले में Electronic की व्यवस्था और व्यवहार से संबंधित है. इस प्रकार Atomic Science ज्यादातर इलेक्ट्रॉनों, आईएलओ और न्यूट्रल एटम की जांच करती है.

Atomic Physics की दिशा में शुरुआती चरणों में यह एक पहचान रहा था कि सभी पदार्थ परमाणुओं से मिलकर बने हैं. एटॉमिक के सहित शुरुआत Spectral lines की खोज और उन्हें समझने के प्रयास से पहचाना जाता है. इससे यह समझने में आसानी हुई है कि परमाणु की संरचना कैसी है और वह कैसे व्यवहार करते हैं.

Geophysics

Geophysics एक ऐसी शाखा है जिसमें पृथ्वी के बारे में अध्ययन होता है. यह मुख्य रूप से पृथ्वी की संरचना, आकृति से संबंधित है लेकिन Geophysicist Gravitational Force और भूकंप मैग्मा इत्यादि के बारे में भी अध्ययन करते हैं.

Geophysics को19वीं शताब्दी से अलग डिसिप्लिन के रूप में मान्यता दी गई थी लेकिन इसकी शुरुआत तब से मानी जाती है जब से मैग्नेटिक कंपास बना था.

Biophysics

Microsoft Encarta Anglo Media के अनुसार, Biophysics को इस प्रकार परिभाषित किया गया है, ” भौतिकी के सिद्धांतों और तकनीकों का इस्तेमाल करके जैविक घटना और समस्याओं का अंत विषय अध्ययन Biophysics कहलाता है. इस से प्राप्त तकनीकों का उपयोग करके जीवो की जैविक समस्याओं और जीवो में अणुओं की संरचना का अध्ययन करता है. बायोफिजिक्स सबसे जमीनी उपलब्धियों में से एक जेम्स वाटसन और French Crick द्वारा DNA की संरचना की खोजें.

Thermodynamics

Thermodynamics Physics का एक ऐसा ब्रांच है जिसमें हिट और टेंपरेचर और उनके एनर्जी और वर्क से रिलेशन के बारे में Study करते हैं. इन पॉइंट्स का बिहेवियर थर्मोडायनेमिक्स के 4 नियमों के द्वारा Control किया जाता है.

Thermodynamics के क्षेत्र को निकोलस लियोनार्ड के काम से विकसित किया गया था जो मानते थे कि इंजन एफिशिएंसी वह Concept थी जो फ्रांस को नेपोलियन युद्ध को जीतने में मदद कर सकती थी. Scottish Physicist Lord Calvin Thermodynamics की परिभाषा के साथ आने वाले पहले व्यक्ति थे.

Astrophysics

दोस्तों Astrophysics शब्द दो लैटिन शब्दों से मिलकर बना हुआ है. Astro का अर्थ होता है Star phi और Phisis इसका अर्थ होता है प्रकृति.

इस प्रकार Astrophysics को खगोल विज्ञान की एक शाखा के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जो इस के नियमों का इस्तेमाल करके ब्रह्मांड यानी सितारों, आकाशगंगा और ग्रहों के अध्ययन से संबंधित है.

Optics

Optics Science की एक शाखा है जो Electromagnetic Radiation इसके पदार्थों के साथ इंटरेक्शन और इंस्ट्रूमेंट जिनका इस्तेमाल इंटरेक्शन के द्वारा जानकारी प्राप्त करना होता है के बारे में Study की जाती है.

Physics का महत्व

दोस्तों जैसा कि हम पहले जान चुके हैं कि ये Subject विज्ञान की वह शाखा है जिसमें पदार्थ और उर्जा के बारे में अध्ययन करते हैं साथ ही उनके Interaction के बारे में अभी पढ़ते हैं. यह मनुष्य जाति के जीवन में काफी महत्व रखता है.

  • फिजिक्स एक ऐसा Subject है जो लोगों को काफी प्रेरित करता है इससे प्रकृति को समझने और उसके बारे में जानकारी Achieved करने के लिए लोगों को उत्साहित करता है.
  • विज्ञान के ऐसे शाखा है जिसमें Fundamental नॉलेज भविष्य के टेक्नोलॉजी को आगे बढ़ाने में मदद करते हैं.
  • इसी शाखा की वजह से आज हम रॉकेट को अंतरिक्ष में भेजने के काबिल हो सके हैं और हवाई जहाज में हर दिन अनगिनत लोग एक जगह से दूसरे लोग बस कुछ घंटे में ही चले जाते हैं
  • आज हम World के अलग-अलग हिस्सों में ऊंची – ऊंची इमारतों को बनते हुए देखते हैं जिसमें इस विज्ञान के Rule को हम नकार नहीं सकते हैं. क्योंकि ऊंची इमारतों को प्रकृति से आने वाले विपदाओं  से बचाने के लिए इस के नियमों का पालन करते हुए बिल्ड किया जाता है. यानी कि तूफान, भूकंप इत्यादि के आने पर ऊंची इमारतें किस तरह से सुरक्षित हो सकती हैं इसके लिए इसी विज्ञान का ही सहारा लिया जाता है.
  • Chemistry इंजीनियरों, कंप्यूटर वैज्ञानिकों कि शिक्षा के साथ साथ Biomedical और इस विज्ञान के Physicians के लिए ये Subject एक महत्वपूर्ण तत्व है.
  • इस विज्ञान के सहारे हमारी जिंदगी में काफी सुधार हुआ है. इसका Used Medical Applications, जैसे Ultrasonic,, लेजर सर्जरी Surgery में क्या जाता है.

Conclusion

दोस्तों आज के इस Post पर मैंने आपको बताया है की Physics Kya Hai 2021 तो अगर आपके मन में इससे जुड़े कोई भी Physics Kya Hai  सवाल है तो आप निचे Comment में पुच सखते हो, में उसका जबाब देने की पूरी कोशिस करूँगा. और भी नए नए जानकारी जानने के लिए हमारे Blog को Visit कर सखते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here