Persoanlity Development Kya Hai 2021

0
24
Persoanlity Development Kya Hai
Persoanlity Development Kya Hai

Persoanlity Development Kya Hai 2021 : दोस्तों आपने कभी ना कभी तो जरूर सुना होगा कि इस इंसान की Personality बहुत अच्छी है और इसका Communication भी बहुत अच्छा है लेकिन क्या आपने कभी जानने की कोशिश की है कि Persoanlity Development Kya Hai .जहां पर भी Communication Skill के बारे में ट्रेनिंग दिए जाते हैं वहां पर Personality Development की भी चर्चा जरूर की जाती है. आखिर Personality Development का महत्व क्या है और इसके कितने स्टेज होते हैं. अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते तो भी कोई बात नहीं क्योंकि आज के इस पोस्ट में हम इसी से जुड़ी Information देने वाले हैं.

Personality Development के कितने प्रकार होते हैं personality development in hindi यह भी हम इस पोस्ट के माध्यम से जानेंगे ताकि आप भी अपना खुद का Development करना सीख सकें. आज के दौर में Education का काफी महत्व है जो इंसान पढ़ा लिखा ना हो उसकी आजकल कहीं भी कोई कदर नहीं है. यह तो रहने दीजिए सिर्फ Study लिखाई करना भी काफी नहीं है जब तक आप किसी Professional कोर्स को नहीं करते तब तक आप को अच्छी नौकरी भी नहीं मिल सकती है. सोसायटी इतनी ज्यादा तेज गति से डेवलप हो रही है कि लोगों को उसके अनुसार Change करना भी काफी जरूरी है. नहीं तो वही बात होती है कि हंसों के बीच में बगुला. अगर आप वक्त के साथ नहीं बदलते तो फिर आप आजकल के दौर के फैशन के साथ घुलमिल नहीं सकेंगे और आप सबसे अलग दिखेंगे. यही वजह है कि लोग खुद की Personality को भी बेहतर बनाने की Try में लगे रहते हैं.

दोस्तों Personality Development कोर्स से हमें क्या फायदा होता है और हमें यह क्यों करना चाहिए इसके बारे में भी हम आपको आगे इस पोस्ट में बताएंगे. जब किसी बड़ी कंपनी या फिर किसी बड़े इंडस्ट्री में जाते हैं तो वहां पर बात करने का तरीका, चलने का तरीका, लोगों के साथ बर्ताव करने का तरीका, सब कुछ Absolutely अलग दिखाई देता है. जो कि लोगों को आदत नहीं होती है और जिसे खुद से डेवलप करना भी काफी Difficult होता है इसीलिए हम इसे सीखने का इरादा करते हैं. अगर आपको सच में जानना है कि Persoanlity Development Kya Hai तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें. आपको इससे जुड़ी हर जानकारी मिल जाएगी और आप भी इसके Importance को समझ जाएंगे.

Persoanlity Development Kya Hai 

Persoanlity Development Kya Hai
Persoanlity Development Kya Hai

Persoanlity Development  यानी कि व्यक्तित्व विकास ऐसा क्षेत्र है जहां पर बहुत ज्यादा रिसर्च और Practice किया जाता है. स्टडी का एक ऐसा क्षेत्र है जो Dynamic है और लगातार Development होता रहता है और हर दिन कुछ नयी चीज़ सामने आती रहती है. यह दूसरों की Help करने के लिए सेल्फ हेल्प से परे जाता है.

Self Development में ऐसे Practice को Include किया जाता है जो खुद की Awareness को बढ़ावा देने, नए आशाओं के समझ और Feeling में सुधार करके किसी व्यक्ति के जीवन की Quality में सुधार लाती है.

Persoanlity Development  का सही अर्थ SELF RESPECT को बढ़ाना, SOCIAL SKILL में सुधार और CAPABILITY विकसित करना है.

दोस्तों अगर हम बड़े Social पैमाने पर देखें तो Persoanlity Development की परिभाषा और अर्थ यह है कि लोग इसके जरिए खुद की अवेयरनेस और Self Respect को बढ़ाते हैं, अपने अंदर छुपे हुए टैलेंट को भी दूसरों को दिखाने में Expert हो जाते हैं. खुद को खुश रखते और दूसरों को भी खुशी देने में माहिर हो जाते हैं.  ये हासिल कैसे किया जाता है तो मैं आपको बता दूं कि यह सोशल और Professional Interaction के द्वारा हासिल किया जाता है जिसके अंतर्गत उम्मीदों इच्छाओं और अपने जिंदगी की लक्ष को दूसरों के सामने Express किया जाता है.

इंसान एक Social Animal होता है और किसी भी Persoanlity Development पहल का एक जरूरी हिस्सा लोगों का स्किल होता है. दूसरों के साथ बिहेव करते समय एक्सेप्टेबल, Pleasant, Assertive और Confident Personality पेश करना एक जरूरी स्किल है जिसे सिखा जा सकता है.

Self Help यानी खुद की मदद करने के लिए सीखने को Countless Books Available है जो किसी भी इंसान को उसके व्यक्तित्व को समझने में मदद करती है. सेल्फ Improvement जैसे गोल्स को पूरा करने में मदद करती है और किए गए progress को जानने में भी मदद करते हैं.

अगर हम History में झांके तो हमें कई ऐसे लोग मिलेंगे जिनकी जिंदगी हमारे लिए Inspiration के स्रोत बन सकते हैं या फिर रोल मॉडल की तरह काम कर सकते हैं इसके अलावा आज के समय में भी कई ऐसी Personality होती हैं जो दूसरों के लिए Inspiration के रूप में काम करते हैं. वह सभी Extraordinary Self Motivation रखने वाले लोग थे जो कि कभी ना हार मानने की नेचर के थे.

Types of Personality

Average:

सबसे आम प्रकार वे लोग हैं जो खुलेपन में कम जबकि Neuroticism और एक्सट्रोवर्शन में उच्च हैं.

Reserved:

इस प्रकार के लोग दूसरे लोगों के सामने खुले हुए नहीं होते हैं लेकिन वे Emotional रूप से स्थिर होते हैं. ऐसे लोग कम बोलने वाले, सहमत और Dutiful होते हैं.

Role-models:

ये लोग प्राकृतिक रूप से लीडर होते हैं जिनमें Neuroticism का लो लेवल होता है और Agreeableness, Extraversion, Openness, Conscientiousness में हाई लेवल होते हैं. ऐसे लोग नए विचारों को सुनते हैं और विश्वसनीय होते हैं.

Self-Centered:

इस तरह के लोग दिमागी रूप से काफी स्ट्रांग होते हैं लेकिन लोगों से बातचीत करने में Social होने में, सहमत होने में, और कर्तव्यनिष्ठा में काफी पीछे होते हैं.

Personality Development Stages

देखा जाए तो Personality Development के कुल 5 स्टेटस होते हैं जो इस प्रकार है.

  1. Oral Stage
  2. Anal Stage
  3. Genital (Oedipal) Stage
  4. Latency Stage
  5. Adolescence Stage.

एरिकसन (1950) का मानना ​​है कि जन्म से लेकर मृत्यु तक पूरे जीवनकाल में Personality को बिल्डअप किया जाता है. इस अवधि को उसके द्वारा आठ Stages में विभाजित किया गया है. प्रत्येक Stage में अपनी खास Characteristics को चिह्नित किया जाता है और Emotional क्राइसिस से प्रभावित होता है, व्यक्ति की विशेष संस्कृति और समाज के साथ उसकी बातचीत जिसमें वह एक हिस्सा है.

1. Oral Stage

यह Stage शून्य से डेढ़ साल तक चलता है. इस Period में बच्चे का शरीर का Most Sensitive पार्ट होता है जिससे वह खुशी और आनंद का एहसास करता है. बच्चे की मां उसकी देखभाल कैसे करती है इससे बच्चों को भरोसा होता है साथ ही उसके आसपास की दुनिया पर वह भरोसा नहीं करता है. अगर उसकी हर ख्वाहिश पूरी होती है रोज संतुष्ट होता है तो एक Vishwas Development करता है और विश्वास करता है कि World उसकी देखभाल करेगी.

अगर उस बच्चे की continuously पूरी नहीं होती है तो इस बार एक अविश्वास बच्चे को एहसास दिलाता है कि उसके आसपास की world उसके लिए ठीक नहीं है और वह जो चाहता है वह उसे खो देता है. शुरू के 6 Month जिस वक्त बच्चे दूध पिया करते हैं और जिस वक्त उनके दांत निकलने शुरू होते हैं और बच्चे और मां के लिए काफी Difficult भरा वक्त होता है. यदि ठीक तरीके से बच्चे को संभाला जाता है तो बच्चे का विश्वास मजबूत हो जाता है और वह इस बात की उम्मीद करता है की वो हमेशा सुरक्षित है.

2. Anal Stage

दोस्तों जब Oral Stage खत्म होने वाला होता है बच्चा अपने दम पर चलने लगता है, बात करने और खाने में भी सक्षम हो जाता है. वह अपने पास Present किसी चीज को रखने में भी समर्थ हो जाता है. यहां तक कि वह पेशाब और Toilet को रोकने या फिर छोड़ने में भी सक्षम होता है.

अब बच्चों और अधिक खुशी के लिए अपने मुंह पर ही निर्भर करता है. बच्चे को पखाना या फिर पेशाब करने में भी इसी प्रकार की परेशानी नहीं होती जिस तरह के उसे उसके माता पिता देते हैं. बच्चों को Taught जाता है कि पेशाब कहां से करना है, कैसे बात करना चाहिए और लैट्रिन के लिए कहां जाना चाहिए. जब बच्चा खुद से शौच के लिए जाने के Capable हो जाता है तो उसमें फिर शर्म और संदेह भी आने लगता है और Believe के Development की ओर ले जाता है वह अपने कामों पर भी कंट्रोल करने लगता है और यहां तक कि कुछ हद तक अपने Nearby के लोग नियंत्रण होता है.

3. Genital (Oedipal) Stage

इस स्टेज में बच्चे के अंदर Initiative डिवेलप और Strong होता है. इसमें जो बच्चे नाकामयाब होते हैं वह अपराध के एक Strong Senseउनमें Developed होती है. यह Time बच्चे के जीवन के 3 से 6 Year तक होती है. यानी कि School जाने के पहले का Time यह होता है. यह पहल कितना Strong है यह इस बात पर डिपेंड करता है कि बच्चे को कितनी Body आजादी दी गई है और उसकी इच्छा कितनी Strong है. अगर उसे अपने बिहेवियर या अपने हक के बारे में बुरा महसूस करने के लिए प्रेरित किया जाता है तो वह अपनी खुद की शुरुआत की Activities के बारे में Crime की भावना के साथ बढ़ सकता है.

एरिकसन (1950) का मानना ​​है कि बच्चा घर पर पहली पहल तब करता है जब वह विपरीत लिंग के अपने माता-पिता में Emotional इंटरेस्ट देखता है. माता-पिता अंततः उसे Disappoint करते हैं. अब यहां माता पिता को अपने बच्चों को इस बारे में मदद करनी चाहिए अगर लड़का है तो पिता को अपने बेटे को समझाना चाहिए और अगर लड़की हो तो उसकी मां को मदद करनी चाहिए.

4. Latency Stage

स्टेज 6 से 11 Year की उम्र को कवर करता है यानी कि जिस वक्त बच्चा School में Study होता है. अब बच्चे में Logic भी उत्पन्न हो जाते हैं. Logic किसी से भी बातचीत कर सकता है. और वैसे Devices का भी उपयोग कर सकता है जो कि बड़े लोग Used करते हैं. इस वक्त Sexual इंटरेस्ट और उसकी इच्छा प्यूबर्टी तक दबी हुई होती है. अगर उसे Encouraged किया जाए और उसे मौका दिया जाए तो वह एडल्ट Material उनको उपयोग करने की क्षमता पर Gain Confidence कर लेता है.

दोस्तों एडल्ट Material का उपयोग ना कर पाने पर उसमें अलग भावना का Development होता है. ऐसे बच्चों में साथियों के साथ Issues पैदा हो सकते हैं. उसे अपने साथ Studi वाले लड़कों से बातचीत करने और दूसरों पर कम निर्भर रहने के लिए इनकरेज करना चाहिए.

5. Adolescence Stage

इस स्टेज को उथल पुथल की Period के रूप में माना जाता है. Usually पर 12 से 13 Year से शुरू होता है और 18 कल तक बढ़ सकता है. Adolescence, बचपन से मेच्योरिटी तक इस Transitional प्रोसेस के दौरान एडल्ट और कभी-कभी बच्चे की तरफ बिहेव करते हैं. माता-पिता भी एक एडल्ट इंसान की अपनी नई भूमिका होने Accept करने की feeling दिखाते हैं.

इस Period के दौरान वह अपने Personality Development करने के लिए कुछ हीरो को फॉलो करने लगता है और उसका फैन बन जाता है और उसके बताए गए रास्ते पर भी चलने लगता है और Opposite सेक्स के साथ अपनी किस्मत को भी आजमाता है.

6. Personality Development course

कोई भी व्यक्ति किसी भी क्षेत्र में Personality Development कोर्स का लाभ उठाकर अपने Personality को एक नया आकार दे सकता है चाहे वह सेल्फ Confidence डिवेलप कर रहा हो या फिर असर्टिव नेचर का हो यह Positive इमेज प्रोजेक्ट कर रहा हो.

अगर आप Online जाएंगे तो आपको बहुत तरह के फ्री कोर्सेज Available मिलेंगे जो आपके अच्छे Personality को डिवेलप करने में मदद कर सकते हैं. वर्कशॉप, सेमिनार और Training Program को स्पेशलिस्ट के द्वारा पर्सनैलिटी डेवलपमेंट के कई क्षेत्रों में स्केल प्रदान करने के लिए Design और Organize किया जाता है.

Soft Skills,, Skill Grooming Voice and Accent, Public Speaking,Presentation s

Skil ,Time Management Business Etiquettes, Leadership Communication स्किल आदि विषयों की एक विस्तृत स्पेक्ट्रम शामिल है. एक अच्छा प्रश्न आईटी दुनिया के लिए अपने आप को एक पॉजिटिव इमेज पेश करने के बारे में है. पर्सनैलिटी डेवलपमेंट का एक अवसर हर पल हर व्यक्ति और हर अवसर में शामिल होता है. अपनी पूरी कैपेबिलिटी का एहसास करने के लिए Personality Development का उपयोग जरूर करें.

7. Importance of Personality Development

Personality Development एक इंसान को तैयार करता है और उसे अपने खुद Mark बनाने में मदद करता है. इंसानों को दूसरों का थ्योरी फॉलो करने के लिए उनकी खुद की एक शैली होनी चाहिए. दूसरों की नकल ना करें. आपको आसपास के लोगों उदाहरण स्थापित करने की Requirement है. Personality Development ना केवल आपको अच्छा और प्रजेंट करने के लायक बनाता है बल्कि आपको Smile के साथ दुनिया का सामना करने में भी मदद करता है.

जिंदगी में होने वाले तनाव और परेशानियों को दूर करने में Personality Development एक बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह Personality को जीवन के पॉजिटिव चीजों को देखने के लिए Encourage करता है. Smile के साथ सबसे खराब कंडीशन का भी सामना करने में यह काम करता है. Smile ऐसी चीज है जो आधे से ज्यादा परेशानियों प्राप्ति दूर कर देती है इसके साथ ही आपके तनाव और चिंताओं को भी दूर किया जा सकता है.

Personality Development आपको जीवन में पॉजिटिव एटीट्यूड डिवेलप करने में मदद करता है. Negative Attitude वाला हर इंसान हर कंडीशन में एक Problem पाता है. आसपास के लोगों की Criticism करने के बजाय पूरी करें और उसी के लिए सॉल्यूशन ढूंढने की कोशिश करें. याद रखेगी कोई समस्या है तो उसका हल भी है. कभी भी अपना आपा ना कोई क्योंकि इससे स्थिति और बदतर हो जाती है.

यह व्यक्ति को समय की पाबंदी करने के लिए मदद करता है. साथी यह सीखने की इच्छा को भी बढ़ाता है, लोगों के दिए हुए राय पर लचीलापन रवैया रखने की एबिलिटी देता है, दूसरों को मदद करने के लिए आगे बढ़ने की Personality Development करने में मदद करता है. दूसरों के साथ वाले शेयर करने में हमेशा आगे रहे यह सभी बातें एक व्यक्तित्व के विकास में महत्वपूर्ण होती हैं.

8. Advantages of Personality Development

दोस्तों Personality Development का हमारी जिंदगी में काफी महत्व है यह तो हम जान चुके हैं. यह हमारे जिंदगी को बेहतर बनाने में भी काफी मदद करते हैं यह भी आप अच्छे से समझ गए होंगे. तो चलिए आप जान लेते हैं कि किस किस तरह के हमारी जिंदगी में देते हैं.

Conclusion

दोस्तों आज के इस Post पर मैंने आपको बताया है की Persoanlity Development Kya Hai 2021 तो अगर आपके मन में इससे जुड़े कोई भी Persoanlity Development Kya Hai सवाल है तो आप निचे Comment में पुच सखते हो, में उसका जबाब देने की पूरी कोशिस करूँगा. और भी नए नए जानकारी जानने के लिए हमारे Blog को Visit कर सखते हो.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here