Data Kya Hai 2021

0
96
Data Kya Hai
Data Kya Hai

Data Kya Hai 2021 : Data Kya Hai? – What Is Data In Hindi? दोस्तों अपने Computer और Mobile में Data का प्रयोग तो हम सभी करते हैं लेकिन क्या आपको पता है की आख़िर Data होता क्या है? अगर नही. तो आज इस पोस्ट में हम जानिंगे की डाटा क्या है और इसके प्रकार? उपयोग, फ़ायदे? data Processing किसे कहेते हैं? History Of Data & All About Data.

दोस्तों इस इंटरनेट युग में आपने Data शब्द का नाम जरूर सुना होगा. चाहे वह मोबाइल डाटा, हो या Files का डाटा हो या फिर कोई अन्य Data हो.लेकिन असल में Data शब्द का मतलब क्या है? डाटा क्या होता है. यदि किसी व्यक्ति से पूछें तो Data का अर्थ क्या है तो शायद वह घुमा फिरा के उस सवाल का जवाब दें.

इसलिए आज का यह लेख उन सभी नए तथा पुराने इंटरनेट यूजर्स के लिए हैं जिन्होंने इस Digital दुनिया में data का नाम तो कई बार सुना है तथा वे डाटा की अहमियत भी जानते हैं? लेकिन उन्हें Data क्या होता है इसके विषय पर पूर्ण एवं सटीक Information नहीं है.

दोस्तों इसलिए आज का यह लेख Data के विषय पर होने वाला है.जिसमें हम बात करेंगे डाटा क्या होता है? डाटा कितने प्रकार के होते हैं? Data के क्या उपयोग हैं. इसका इतिहास क्या है तथा डाटा प्रोसेसिंग क्या होती है? अतः Data से संबंधित पूरी Information पाने के लिए इस लेख को शुरू से लेकर अंत तक अवश्य पढ़ें! चलिये सबसे पहले जानते हैं डाटा क्या है – What Is Data In Hindi?

Data Kya Hai

Data Kya Hai
Data Kya Hai

सामान्यतः डाटा कैरेक्टर्स का कोई set होता है जिसे किसी उद्देश्य के लिए एकत्रित या फिर Translate (अनुवाद) किया जाता है.जैसे कि डेटा को analysis (विश्लेषण) करने के लिए.यह डेटा character (वर्ण) के रूप में कोई भी images, Video, Text, Sound के हो सकता है. यदि डाटा को context संदर्भ में नहीं रखा जाता है तो यह न तो मानव के लिए और न ही किसी Computer के लिए कुछ कर सकता है.

यहां आपका जानना जरूरी है कि कंप्यूटर data के जरिये Information निकालता है जिससे हम उस Data के बारे में समझ पाते हैं.यदि डाटा को कंप्यूटर के Storage के रूप में देखे तो डाटा Numbers का एक कलेक्शन होता है! जिसे बाइट्स के रूप में Represent किया जाता है यह Data सीपीयू द्वारा processed किया जाता है.

दोस्तों इस तरह आप समझ चुके होंगे कि यह डाटा क्या होता है? अब हम जानते हैं डाटा को Computer में किस तरह Store किया जाता है.किसी कंप्यूटर में डाटा तथा Information को स्टोर करने के लिए हार्ड ड्राइव या अन्य स्टोरेज Device का उपओगे किया जाता है.जबकि स्मार्टफोन तथा अन्य मोबाइल डिवाइसेज में Data Term का उपओगे इंटरनेट के जरिए विभिन्न Devices के बीच डाटा को ट्रांसफर करने के लिए किया जाता है.

दोस्तों जब यह डेटा Raw फॉर्म में होता है.मनुष्य के लिए इस डाटा का कोई अर्थ नहीं होता अतः यह किसी काम का नहीं होता. परंतु जब इस डाटा की प्रोसेस तथा व्याख्या की जाती है तो इस डाटा का अर्थ मनुष्य के लिए समझने योग्य होता है और इससे Proceed डाटा को इंफॉर्मेशन नाम भी दिया जाता है.

Data के प्रकार 

Numerical

Computer में जो डाटा हमें दिखाई देता है! वह संख्यात्मक रूप में होता है Numerical डेटा में 0 से लेकर 9 तक की संख्याएं होती है. Numerical डाटा को Statistical डाटा भी कहा जा सकता है क्योंकि यह आंकड़े दर्शाते हैं.

उदाहरण के लिए जब हम कंप्यूटर पर Excel शीट पर किसी Time, Height, Width अमाउंट के रूप में Terms को इंटर करते हैं. तो इस डाटा को हम माप (measure) सकते हैं. अतः संक्षेप में कहें तो जब हम डाटा के लिए संख्याओं का उपयोग करते हैं तो न्यूमेरिकल डाटा का उपओगे होता है.

Letters

दोस्तों हम आम तौर पर कंप्यूटर में Display लैंग्वेज को समझकर विभिन्न Task को पूरा करते हैं. इसलिए किसी भी भाषा हिंदी या इंग्लिश उर्दू या किसी भी भाषा के लिए Alphabets Data का उपओगे होता है.अतः हम कह सकते हैं कि letters डाटा Computer का इस्तेमाल करने के लिए बेहद जरूरी है.

Alpha Numerica Data

अल्फा न्यूमैरिक डाटा इस डाटा को हिंदी में अक्षरांकीय आँकड़ा डाटा कहा जाता है. अल्फा न्यूमैरिक डाटा में नंबर तथा letters दोनों शामिल होते हैं.अल्फा न्यूमैरिक डाटा का इस्तेमाल आमतौर पर Strong पासवर्ड Create करने, Captcha Fill करने के लिए भी किया जाता है.

अल्फान्यूमैरिक डाटा 1a2b3c इस प्रकार दिखाई देता है. यह Short characters का बना होता है जो कि संख्याएं तथा अक्षर दोनों से मिलकर बना होता है.

Audio Data

Audio Data Computer के लिए तथा स्मार्टफोन दोनों के लिए बेहद महत्वपूर्ण होता है. यह डाटा Audio के माध्यम से ध्वनि उत्पन्न करते हैं.इस तरह के डाटा में गाने तथा रिकॉर्डिंग शामिल होती है.जिन्हें हम केवल सुन सकते हैं परंतु देख नहीं सकते इसके कुछ फॉर्मेट जैसे MP3, wav आदि होते हैं.

Video Data

वकंप्यूटर् पर सामान्यतः आप भी कई प्रकार की videos देखते होंगे. वह डाटा जो video डिस्प्ले करने के लिए उपओगे होता है.वह वीडियो Data होता है. Digital वीडियो एक इलेक्ट्रॉनिक प्रेजेंटेशन होती है. वीडियो डाटा के Encoding फॉर्मेट्स में MP4, webm, mkvआदि फॉर्मेट शामिल होते हैं.

Graphical Data

वह डेटा जो visual images के रूप में होता है!Computer में ग्राफिकल डाटा का विशेष महत्व है जिसकी सहायता से चीजों को Present तथा समझने में सहायता मिलती है.

डाटा का उपयोग?

इस डिजिटल वर्ल्ड में Data का सबसे अधिक उपओगे सोशल मीडिया, e-commerce कंपनियों तथा Website पब्लिशर्स द्वारा सबसे अधिक किया जा रहा है. यदि हम डाटा को किसी व्यापार के नजरिए से देखें तो इसकी अहमियत काफी बढ़ चुकी है.

सबसे पहले यदि आपके व्यापार का कोई फेसबुक पेज Website या Youtube Channel है तो आपको नए कस्टमर के बारे में Information देने में data बेहद सहायकपूर्ण होता है.

डाटा के व्यापार में फ़ायदे – Benefits Of Data 

Solve Problems

व्यापार में Data के जरिए आप पता कर सकते हैं कि आपकी प्रोडक्ट या सर्विस में क्या दिक्कतें आ रही है. और आप इन दिक्कतों को कैसे Solve कर सकते हैं. उदाहरण के लिए यदि कोई प्रोडक्ट लोगों के लिए फायदेमंद नहीं हो

रहा है तो ऐसी स्थिति में लोगों के Reviews आपको उस प्रोडक्ट को बेहतर बनाने में मदद करते हैं. जिससे कि ग्राहक को अंत में एक बेहतर सर्विस प्रदान होती है.अतः डाटा कस्टमर संतुष्टि के लिए महत्वपूर्ण साधन है.

Reach to Right Customer

डाटा किसी व्यापार में मार्केटिंग प्रयासों को बढ़ाने में मदद करता है.तथा यह आपको अपने उन ग्राहकों तक पहुंचाने में सहायता करते हैं जो वाकई आपकी Products & Services को लेना चाहते हैं.

उदाहरण के लिए यदि आप अपनी Website के जरिए प्रोडक्ट तथा सेवाओं को Sell करते हैं. तो आप उसके अंतर्गत प्राप्त Data के अनुसार पता कर सकते हैं कौन से लोकेशन के लोग,किस समय पर आपके सेवाओं का इस्तेमाल कर रहे हैं. तथा इन आंकड़ों को मापने के बाद आप सही दिशा में उचित मॉर्केटिंग प्रयास कर सकते हैं.

Engagement in Social Media

वर्तमान Time में अधिक से अधिक लोग फेसबुक इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का उपिओगे कर रहे हैं तो यदि आप अपने व्यापार कि पहुंच अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाना चाहते हैं.तो सोशल Media आपकी सहायता करता है

सोशल मीडिया में व्यापार हेतु Interaction को ट्रैक करने में Data अपनी सहायता करता है.जिससे आप सोशल Media में यूजर्स के व्यवहार, इंटरेस्ट आदि को पता कर सकते हैं.तथा यह डेटा का विश्लेषण आपके लिए सोशल Media फायदेमंद होता है.

Predict of Trends Product & Services

इसके अलावा Data आपके व्यापार में प्रोडक्ट एवं सर्विसेज को भविष्य के trends (प्रचलन) को समझने में मदद करता है.अर्थात Data आपको बताता है कि भविष्य में आपके कौन-कौन से प्रोडक्ट सर्विसेज की Sell अधिक होगी.

इसका फायदा यह है कि आप पहले से ही अपने प्रोडक्ट एंड सर्विसेज को मार्केट में पूरी तैयारी के साथ लांच करने के लिए तैयार रहेंगे. तथा अपने उन प्रोडक्ट्स एवं सर्विसेज को लोगों तक पहुंचाने का कार्य करेंगे.

Help to Understand & Solve Problems

Data आपके व्यापार में Sells तथा अन्य समस्याओं से सुलझने में सहायता करता है.महीने के अंत में Data के जरिए आप पता कर पाते हैं की इस महीने प्रोडक्ट एंड सर्विसेज में या आपके द्वारा मार्केटिंग में कहां कमियां हो रही है. तथा उसे सुधार कर आपको अगले महीने दोबारा मार्केट में खड़ा होने में सहायता करता है.

दोस्तों इसके अलावा इस Digital वर्ल्ड में व्यापार के लिए डाटा के अनेक लाभ हैं. अतः आप कह सकते हैं कि बिना डाटा के Online Marketing करना आंख बंद करके निशाना मारने जैसी स्थिति होती है.

दोस्तों यह तो हमने बात की डेटा की वर्तमान Time में व्यापार में. लेकिन यदि हम डाटा का उपओगे देखें तो हर जगह डाटा का उपओगे हमारे रोजमर्रा के जीवन में होता है. Data का उपओगे स्कूल, अस्पतालों विज्ञान तथा विभिन्न क्षेत्रों के लिए डाटा का इस्तेमाल होता है.

उदाहरण के लिए हम डाटा के जरिए ही है पता कर पाते हैं कि आप हमारी Website में कितने मिनट तक Article पढ़ते हैं तथा कितनी देर तक इस Website को ओपन करते हैं. Online हो या ऑफलाइन जिंदगी डाटा बेहद महत्वपूर्ण है.दोस्तों अब एक Term जो आपने अक्सर सुना होगा डाटा प्रोसेसिंग आइए इसका मतलब जानते हैं.

डाटा प्रोसेसिंग क्या है? What Is Data Processing In Hindi

डाटा प्रोसेसिंग क्या है सरल शब्दों में कहें तो डाटा की महत्वता के आधार पर किया जाने वाला विश्लेषण डाटा प्रोसेसिंग होता है.दोस्तों Computer की भाषा में जो डाटा होता है उसे हम डायरेक्ट नहीं पढ़ सकते.तथा उस डाटा को मनुष्य द्वारा समझने योग्य बनाने के लिए उस डाटा से इंफॉर्मेशन (सूचनाएं) निकाली जाती है. तो इस प्रक्रिया को ही Data Processing कहते हैं.

दोस्तों जब computer डाटा प्रोसेसिंग अर्थात Data को सूचना में बदलता है तो उसके लिए कई अंकगणितीय गणनाएं करता है.जिसके लिए कंप्यूटर CPUसे अर्थमैटिक लॉजिक यूनिट तथा कंट्रोल यूनिट की सहायता लेता है.

डाटा का इतिहास – History Of Data In Hindi

1640 ई० में पहली बार इंग्लिश में Data शब्द का उपओगे किया गया. उसके बाद Computer की दुनिया के लिए डाटा शब्द का इस्तेमाल पहली बार वर्ष 1946 में Computer के डाटा को Store एवं ट्रांसफर करने हेतु किया गया.

जबकि डाटा प्रोसेसिंग शब्द का उपओगे पहली बार 1954 में किया गया.तो दोस्तों आज के इस लेख में इतना ही उम्मीद है इस लेख को पढ़ने के बाद आपको डाटा से संबंधित कई जानकारियां प्राप्त हुई होंगी.

डाटा क्या है यह विस्तार से समझ लेने के बाद अब हम डाटा से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल करते हैं.

कंप्यूटर में डाटा कैसे स्टोर होता है?

इस Digital युग में कंप्यूटर हमारे लिए बेहद उपयोगी हो चुके हैं, और Computer में Store किया गए डाटा कंप्यूटर के Storage Device में store किया जाता है, उसे या तो हम Hard drive में स्टोर करते हैं या फिर अन्य स्टोरेज Device में स्टोर कर सकते हैं.

कंप्यूटर में स्टोर किया गया डाटा फिर चाहे वह कोई Photo, वीडियो या कोई भी फाइल हो वह हमारे Computer में अटैच की गई हार्ड ड्राइव में स्टोर होता है.हार्ड ड्राइव क्या है इसके बारे में हम आपको पहले ही डिटेल से बता चुके हैं.आजकल मार्केट में विभिन्न Storage Device आ रहे हैं. जिन्हें आप अपने कंप्यूटर से अटैच कर सकते हैं उनमें से एक है Pen ड्राइव.

डाटा और इंफॉर्मेशन के बीच क्या अंतर होता है?

प्रायः हम जब भी डाटा का नाम लेते हैं तो इसका मतलब हम समझते हैं कि इसमें कोई Information स्टोर की गई है परंतु इनके पीछे का छोटा सा अंतर होता है.सबसे पहले Data बात करें डाटा की तो डाटा Value का कलेक्शन होता है वैल्यू का अर्थ यहां कैरेक्टर्स, नंबर इत्यादि से है.

जबकि इंफॉर्मेशन वह होती है जिसे मनुष्य आसानी से Read कर सकता है, इंफॉर्मेशन भी एक प्रकार का डाटा ही होता है जिसे इस प्रकार Process किया जाता है. ताकि कोई भी इंसान उसे आसानी से पढ़ सके समझ सके.दोस्तों इसे आप इस तरह भी समझ सकते हैं कि Computer में को सीपीयू होता है उसमें P का अर्थ है प्रोसेसिंग अर्थात डाटा को प्रोसेस करना.

इसीलिए Data को इंफॉर्मेशन में प्रोसेस करना Computer का मकसद होता है.इंफॉर्मेशन हमें किसी के बारे में कोई सूचना देती है यह किसी भी एक विशेष टॉपिक पर इंफॉर्मेशन हो सकती है, अर्थात इंफॉर्मेशन किसी भी सत्य या Fact को प्रदर्शित करता है. जबकि डाटा रिकॉर्ड की गई values का कलेक्शन होता है जिसमें निहित Information को कभी भी निधारित किया जा सकता है.

Computer डाटा को किस तरह प्रोसेस करता है?

जब भी हम Computer को कोई Command या instructions देते हैं तो Computer इस प्रकार डाटा को प्रोसेस करता है.जब कंप्यूटर किसी भी डाटा को प्रोसेस करता है, तो सबसे पहले Input चाहिए अर्थात जब भी आप अपने Computer को इंस्ट्रक्शन देते हैं. मान लीजिए आप अपने कीबोर्ड से कोई Key दबाते हैं तो Computer को इनपुट मिल जाता है.

Process

उसके बाद आपके द्वारा दिए गए निर्देश से कंप्यूटर को जो Input मिला है, उसे प्रोसेस करने के लिए कंप्यूटर को एक प्रोग्राम की आवश्यकता होती है, एक Typical प्रोग्राम जो कि उस डाटा को ऑर्गेनाइज, manipulate करने के बाद उस Data को इंफॉर्मेशन में तब्दील कर सके. दोस्तों इसे इंफॉर्मेशन में इसीलिए कन्वर्ट किया जाता है ताकि उस information को एक इंसान समझ सके और उसे पढ़ सके.

Output

और जब इस तरह इंफॉर्मेशन में किसी डाटा को तब्दील कर दिया जाता है तो तीसरे स्टेप में इस इनफार्मेशन को Output के रूप में Show कर दिया जाता है Example के लिए यदि हम अपने कीबोर्ड से कुछ भी टाइप करते हैं तो वह अपने मॉनिटर स्क्रीन पर show होता है.

Storage

डाटा प्रोसेसिंग के के बाद ही सारा कार्य खत्म नहीं हो जाता.अंत में उस डाटा को स्टोर करने के लिए कंप्यूटर को स्टोरेज Device की आवश्यकता पड़ती है ताकि उस इंफॉर्मेशन का इस्तेमाल भविष्य में भी किया जा सके.

Definitions of Data in Technology in Hindi

समय अनुसार जिस तरह टेक्नोलॉजी में परिवर्तन हुआ है, उसी प्रकार डाटा को Describe करने के लिए विभिन्न परिभाषाएं सामने आई हैं. अर्थात विभिन्न टेक्नोलॉजी में Data शब्द के लिए अलग-अलग Definitions का उपओगे किया गया है.चलिए हम यहां डाटा से संबंधित सभी विभिन्न परिभाषाओं को विस्तार जानते हैं इससे आपको Data को और भी विस्तार से समझने में मदद मिलेगी.

Big Data

बड़ी मात्रा में जो डाटा होता है उसे आज हम Big Data के नाम से जानते हैं यह डाटा दोनों प्रकार का हो सकता है.अर्थात यह Structure या Unstructured हो सकता है. चूंकि यह बड़ी मात्रा में डाटा होता है.इसलिए यह नई टेक्नोलॉजी पर आधारित है इसलिए इसे पारंपरिक डेटाबेस या सॉफ्टवेयर तकनीकों के जरिए प्रोसेस नहीं किया जा सकता.

बड़ी संख्या में Data के सेट को विश्लेषण, व्यवस्थित किया जाता है ताकि उस डाटा के जरिए विभिन्न पैटर्न या उपयोगी जानकारियां मिल सके तो उसे Big Data Analytics कहा जाता है.

Data Miner

एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन जो किसी Computer की गतिवधियों को मॉनिटर या विश्लेषण करती है. अर्थात एक यूजर Device का उपओगे किस तरीके से कर रहा है ताकि उस डाटा के उपओगे से महत्वपूर्ण जानकारियां प्राप्त की जा सके.डेटाबेस एप्लीकेशंस का एक समूह जो किसी डाटा में Hidden pattern को खोजने की कोशिश करता है ताकि इसी जानकारी के आधार पर भविष्य में prediction की जा सके.

Raw Data

शुरुआती चरण में प्राप्त होने वाला Data जिससे Main डाटा Collect किया जाता है परंतु यह डाटा ना तो फॉर्मेटेड होता है और ना ही व्यवस्थित रूप में होता है.

Database

डेटाबेस बेसिकली सूचनाओं का एक संग्रह है जिसमें सभी सूचनाएं व्यवस्थित रूप से मौजूद होती हैं.तथा जो भी Data इसमें स्टोर होता है उसे आसानी से कंप्यूटर ढूंढ कर प्रदर्शित करता है.

Structured Data

स्ट्रक्चर्ड Data से तात्पर्य उस डाटा से जो कोई रिकॉर्ड या फाइल के रूप में मौजूद हो जैसा कि रिलेशनल डेटाबेस या स्प्रेडशीट में होता है. इस प्रकार के Data को स्ट्रक्चर्ड Data नाम दिया जाता है.

Unstructured Data

वे इंफॉर्मेशन जो ट्रेडिशनल डेटाबेस में स्टोर नहीं होती जैसा कि नाम से ही पता चलता है इसका कार्य को आप स्ट्रक्चर्ड डाटा के विपरीत भी समझ सकते हैं.

उम्मीद है की अब आप जान गये होगे की डाटा क्या है और इसके प्रकार? उपयोग, फ़ायदे? Data Processing किसे कहेते हैं? History of Data & all About Data in Hindi?

Conclusion

दोस्तों आज के इस Post पर मैंने आपको बताया है की Data Kya Hai 2021 तो अगर आपके मन में इससे जुड़े कोई भी Data Kya Hai सवाल है तो आप निचे Comment में पुच सखते हो, में उसका जबाब देने की पूरी कोशिस करूँगा. और भी नए नए जानकारी जानने के लिए हमारे Blog को Visit कर सखते हो.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here